Home / ताजा खबर / Jharkhand: गोड्डा में डाक घर से 21 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा, ED ने खंगाले कागजात.

Jharkhand: गोड्डा में डाक घर से 21 करोड़ रुपये का फर्जीवाड़ा, ED ने खंगाले कागजात.

संथाल परगना डिवीजन के वरीय डाक अधीक्षक वी. किशोर ने प्रवर्तन निदेशालय को जानकारी दी है। ईडी ने गोड्डा के सरौनी बाजार के उप डाकपाल निर्भय कुमार पर केस दर्ज किया। ईडी में दर्ज केस के शिकायकर्ता के अनुसार निर्भय कुमार ने 86.22 लाख गबन किया।गोड्डा में फर्जी दस्तावेज पर डाकघर से 21 करोड़ का गबन कर लिया गया है।


संथाल परगना डिवीजन के वरीय डाक अधीक्षक वी. किशोर ने प्रवर्तन निदेशालय को जानकारी दी है। ईडी ने गोड्डा के सरौनी बाजार के उप डाकपाल निर्भय कुमार पर केस दर्ज किया। ईडी में दर्ज केस के शिकायकर्ता के अनुसार निर्भय कुमार ने 86.22 लाख गबन किया।

गोड्डा में फर्जी दस्तावेज पर डाकघर से 20 करोड़ 90 लाख 14 हज़ार 200 रुपये का गबन कर लिया गया है। यह जानकारी संथाल परगना डिवीजन दुमका के वरीय डाक अधीक्षक वी. किशोर ने प्रवर्तन निदेशालय को भेजी गई अपनी सूचना में दी है। इसका खुलासा डाक विभाग की आंतरिक जांच में हुआ है। जानकारी मिली है कि डाकघर में फर्जी दस्तावेज पर टर्म डिपोजिट खाता खोलकर सरकारी राशि का गबन किया गया है।

इधर, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गोड्डा पुलिस में दर्ज एक प्राथमिकी के आधार पर गोड्डा के सरौनी बाजार के तत्कालीन उप डाकपाल निर्भय कुमार के खिलाफ मनी लांड्रिंग अधिनियम में केस दर्ज कर लिया है। सरौनी बाजार डाकघर के तत्कालीन उप डाकपाल निर्भय कुमार पर गोड्डा के मुफस्सिल थाने में 23 जनवरी 2019 को जालसाजी से संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। निर्भय कुमार मूल रूप से बिहार के पटना जिले के विक्रम थाना क्षेत्र स्थित मोहम्मदपुर के रहने वाले हैं।

ईडी में दर्ज केस के शिकायतकर्ता दुमका (उतरी) के सहायक डाक अधीक्षक रामाश्रय कुमार हैं। सहायक डाक अधीक्षक रामाश्रय कुमार के अनुसार प्रारंभिक जांच में यह खुलासा हुआ है कि निर्भय कुमार ने जालसाजी कर डाकघर से 86 लाख 22 हज़ार 232 रुपये का गबन किया है।

फर्जी खाता में और टर्म डिपॉजिट के नाम पर की गई है जालसाजी

सबसे पहले अभय कुमार नामक एक व्यक्ति ने गोड्डा थाने में इस जालसाजी की शिकायत की थी। उन्होंने पुलिस को बताया था कि उन्होंने सरौनी बाजार डाकघर में 27 नवंबर 2015 को 2 साल के लिए 15 लाख रुपये का टर्म डिपॉजिट खाता खोला था। उनके नाम पर भी फर्जी तरीके से आरोपित उप डाकपाल निर्भय कुमार ने सरकारी खाते से 18 लाख छह हजार 278 रुपये की निकासी कर ली।

निर्भय कुमार ने अपनी पत्नी सरिता रंजन के तीन वर्षीय टर्म डिपॉजिट खाते के नाम पर भी सरकारी खाते से 30 लाख चार हज़ार 380 रुपये की निकासी की। विस्तृत जांच में डाकघर से बड़े घोटाले उजागर होने की आशंका जताई जा रही है।

Source:Jagran

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

21 करोड़ के गबन का आरोपी सरौनी का उप डाकपाल गिरफ्तार

गोड्डा: जनता की गाढ़ी कमाई की हेरा फेरी करते हुए पोस्ट ऑफिस की विश्वसनीयता पर …

08-04-2021 05:37:06×