Home / गोड्डा प्रखण्ड / गोड्डा / गोड्डा: उपायुक्त ने कोरोना से लड़ने के लिए सभी मुखिया से किया आवाह्न ।

गोड्डा: उपायुक्त ने कोरोना से लड़ने के लिए सभी मुखिया से किया आवाह्न ।

उपायुक्त गोड्डा ने जिले के सभी मुखिया को पत्र लिखकर कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई का आह्वान किया ।

गोड्डा : उपायुक्त सुनील कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि आपसब अवगत है कि पूरा विश्व कोरोना वायरस से संक्रमित हो गया है। इससे बचाव का एकमात्र उपाय Social Distance है। इस हेतु बाहर से आए व्यक्तियों का Quarantine करने की आवश्यकता है। Quarantine का अर्थ है संक्रामक रोगों के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से कुछ अवधी तक संक्रमण प्रभावित होने की संभावना वाले लोगों की आवाजाही और दूसरे लोगों से मिलने सुनने पर प्रतिबंध। ऐसी संभावना रहती है कि पूरी तरह से स्वस्थ्य दिखने वाला व्यक्ति भी संक्रामक रोगों के संसर्ग में आए हो लेकिन उन्हें इस बात का पता नहीं है अथवा उनमें वायरस का संक्रमण हो चुका है लेकिन वे किसी तरह का लक्षण नहीं दिखा रहे हो। Quarantine की अवधि में व्यक्ति को समाज से दूरी बनाकर बीमारी के लक्षणों के उभरने तक की अवधि के लिए पूरी तरह से अलग रखा जाता है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए Quarantine की अवधि 14 दिनों की है।
राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलाव, इलाज एवं रोकथाम के निमित लगातार स्थिति की निगरानी हेतु जिला, प्रखंड एवं पंचायत स्तर पर समन्वय समिति का गठन किया गया है। पंचायत स्तरीय समन्वय समिति में मुखिया गण अध्यक्ष है, फलत: आपकी भूमिका काफी महत्वपूर्ण है। इसी परिपेक्ष में निम्नांकित निदेश दिये जाते है:-
■1. राज्य के बाहर से आए हुए लोगों को स्थानीय एएनएम/सहिया से समन्वय स्थापित कर जांच कराएंगे। यदि कोई संदेहास्पद व्यक्ति मिलता है तो स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से संपर्क कर निर्देश प्राप्त करेंगे।

■2. कोलकाता, महाराष्ट्र, दिल्ली, चेन्नई, केरल, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, पंजाब या किसी अन्य राज्य से वापस आ रहे लोगों को कम से कम 14 दिनों तक अपने घर में आइसोलेशन में रहने की विनती करेंगे।

■3. यदि कोई व्यक्ति जो बाहर से आए हैं और उनकी आर्थिक स्थिति और घर की व्यवस्था ऐसी नहीं है जो कि पूरे साफ-सफाई के साथ Home Quarantine हो सके तो उनको पंचायत में स्थापित Quarantine Centre में रखना है।

■4. पंचायत में स्थापित Quarantine केंद्र में पर्याप्त मात्रा में बेड की व्यवस्था करेंगे। किसी भी स्थिति में जमीन पर बेड नहीं लगायेंगे। Quarantine केंद्र में टेंट वाले से भाड़े पर तोसक/ तकिया/ कंबल/ खाने के बर्तन की व्यवस्था करना एवं वहां खाने-पीने एवं अन्य जरूरी संसाधनों की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे।

■5. पंचायत स्तरीय केंद्रों पर प्रत्येक दिन एडमिटेड व्यक्तियों के खाने की व्यवस्था करेंगे ताकि इन केंद्रों पर रह रहे लोगों एवं पंचायत के निशक्त परिवारों को सहायता मिल सके।

■6. पंचायत में किसी निशक्त परिवार को खाद्यान्न की कमी ना हो इसे सुनिश्चित करेंगे।

■7. सरकार के आदेशानुसार सभी कार्ड धारियों को 2 माह का अग्रिम राशन तथा सभी पेंशनधारियों को अग्रिम 3 माह का पेंशन भुगतान किया जाना है। इस हेतु अपने अस्तर से आवश्यक पहल कर अपने पंचायत के सभी लाभुकों को लाभ मुहैया कराना सुनिश्चित कराएंगे।

■8. वैसे व्यक्ति जिनका राशन कार्ड नहीं है, उन्हें बाजार दर से 10 कि.ग्रा. राशन मुहैया कराएंगे।

■9. पंचायत में कोई भी परिवार भूखे नहीं रहे यह सुनिश्चित करेंगे। यदि कोई परिवार ऐसा पाया जाता है तो खाद्यान्न आकस्मिकता मद अथवा 14वें वित्त आयोग की प्रशासनिक मद से तत्काल उस परिवार को राशन उपलब्ध कराएंगे।

■10. सभी ग्रामीणों को वैयक्तिक साफ-सफाई तथा सामाजिक दूरी के संबंध में नियमित रूप से अवगत कराएंगे।

■11. पंचायत क्षेत्र में आवश्यक वस्तुओं की स्थिति का आकलन कर उसकी समुचित व्यवस्था हेतु आवश्यक पहल करेंगे।

■12. प्रत्येक दिन संध्या को अपने प्रखंड विकास पदाधिकारी/ प्रखंड स्तरीय समिति को प्रतिवेदन निश्चित रूप से समर्पित करेंगे ।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

कोरोना पर हेमंत सरकार की नयी गाइडलाइन, जानिए राज्य में क्या खुला और क्या बंद ।

झारखण्ड/कोरोना संक्रमण की ताजा स्थिति को लेकर रांची में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई। …

04-16-2021 08:39:00×