Home / Sliders / पुलिस के ऊपर संगीन आरोप,यौन शोषण के साथ जान से मारने की धमकी ।

पुलिस के ऊपर संगीन आरोप,यौन शोषण के साथ जान से मारने की धमकी ।

शादी का झांसा देकर यौन शोषण दी जान से मारने की धमकी ।
मामले मेंं एसडीपीओ के पूर्व बॉडीगार्ड के ऊपर आरोप ।

गोड्डा/उड़ीसा की रहने वाली शादीशुदा दो बच्चे की मां ने अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के एक बॉडीगार्ड पर शादी के नाम पर यौन शोषण करने तथा जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। महिला ने संपूर्ण मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक को देकर न्याय की गुहार लगाई है। फिलहाल महिला रामगढ़ के सुधार गृह में रह रही है, जबकि उसके दोनों बच्चे को पूर्व पति अपने साथ ओडिशा लेकर चले गए हैं।

पीड़िता ने लगाई पुलिस अधीक्षक से लगाई है न्याय की गुहार ।

पुलिस अधीक्षक को दिए आवेदन में महिला ने लिखा है कि वह नटपड़ा, जाजपुर रोड, ओडिशा की रहने वाली हैं तथा एक इंग्लिश मीडियम स्कूल,वेस्ट सिंहभूम (झारखंड) में एक शिक्षिका के रूप में कार्यरत थीं। उनके दो बच्चे हैं। एक लड़का 9 साल का और एक लड़की 6 साल की।
आवेदन के अनुसार, विश्वेश्वरी की शादी 4 जुलाई 2011 को प्रशांत कुमार जेना के साथ हुई । लेकिन पिछले दो ढाई साल से पति पत्नी एक दूसरे से अलग रह रहे हैं । दोनों के बीच बीच पति पत्नी वाला कोई रिश्ता नहीं है। दोनों बच्चे महिला के साथ रहते हैं।
एक रक्षक द्वारा शारीरिक और मानसिक शोषण : पीड़ित

मार्च 2019 में महिला अपने बच्चों के साथ एक शादी में चपरासी मोहल्ला गोड्डा आई थी,यहां उसकी मुलाकात चंदन के चचेरे भाई रजनीश कुमार, पुत्र जयराम सिंह, पता मोहदीपुर भागलपुर से हुई। धीरे धीरे दोनों मैसेज से चैटिंग करने लगे।
अपने आवेदन पत्र में महिला ने लिखा है कि कुछ समय बाद रजनीश कुमार ने उसे शादी का प्रस्ताव दिया। जिस पर विश्वेश्वरी ने कहा कि ‘ मैं आपको पहले ही बता चुकी हूं कि मैं शादीशुदा हूं और दो बच्चे की मां हूं।’इस पर रजनीशकुमार ने कहा कि “उसे सब पता है कि तुम शादीशुदा हो और तुम्हारा रिश्ता पति पत्नी का नहीं है। मैं तुमसे हर हालात में शादी करना चाहता हूं, मैं तुम्हारे बच्चों को भी अपनाना चाहता हूं।”

लालच देकर फंसा लिया झांसे में किया इमोशनल अत्ययाचार:

महिला ने रजनीश से कहा कि यह रिश्ता दोस्ती तक ही ठीक है। इस पर रजनीश उसे बार-बार कहने लगा कि ‘ तुम मेरा यकीन करो। तुमसे बेहद प्यार करता हूं और तुम्हारे बिना नहीं रह सकता। अगर तुमने मुझे स्वीकार नहीं किया तो मैं सुसाइड कर लूंगा।’ इस तरह रजनीश ने महिला के भावना एवं जज्बात का नाजायज फायदा उठाने लगा। रजनीश ने उससे कहा कि ‘ तुम जगन्नाथपुर से गोड्डा आ जाओ, मैं तुमसे शादी करूंगा,तुम्हारे बच्चों की जिम्मेवारी उठाऊंगा और रुपए जो भी लगेगा, तुम्हारे लिए स्कूल खोल दूंगा।

हम दोनों मिलकर जिंदगी की एक नई शुरुआत करेंगे। अगर तुम गोड्डा नहीं आई तो मेरे पास मरने के अलावा कोई रास्ता नहीं है।’
बहरहाल, रजनीश के फँसाये हुए जाल में आकर महिला अपने दो बच्चों के साथ 24 दिसंबर 2019 को गोड्डा चली आईं। बकौल महिला, ‘ मैं उसे समझा ही रही थी कि अचानक उसने नये साल 1 जनवरी 2020 के दिन मेरी मांग में सिंदूर भर दिया। रजनीश ने कहा, अब तो तुम्हें यकीन आ गया होगा कि मैं तुमसे बेहद प्यार करता हूं। तुम्हारे बिना मैं जी नहीं सकता । फिर हम कोर्ट मैरिज कर लेंगे।’
महिला उसकी चाल को समझ ना पाई और अपनी नई जिंदगी की उम्मीदें लेकर 5 जनवरी 2020 को बच्चों के साथ रजनीश द्वारा किराया पर लिए गए गोड्डा शहर के शिवपुर मोहल्ला में कचहरी पोखर के पीछे रहने लगी।

रजनीश भी पति की तौर पर रहना शुरू कर दिया। बच्चे भी मेरे साथ रहते थे। रजनीश एसडीपीओ का सरकारी बॉडीगार्ड था और अपने इयूटी के बाद महिला के साथ ही रहता था।
इस बीच 4 जुलाई को विश्वेश्वरी के पूर्व पति बच्चों से मिलने के लिए आए। उसने अपने पूर्व पति को सारी बात बताए। पूर्व पति ने कहा, ‘ तुम मेरे से डिवोर्स लेकर शादी कर लो। मुझे कोई एतराज नहीं है। क्योंकि हम लोग पहले से ही एक दूसरे से अलग तो रह ही रहे हैं।’ और वह वापस चले गए।
फिर महिला ने रजनीश को पूर्व पति से हुई सारी बात बताई और कहा, ‘तुम किसी वकील का पता करो । क्योंकि मैं अपने पति के साथ तलाक लेकर तुमसे शादी करना चाहती हूं।

लेकिन इसके बाद रात होने पर भी रजनीश वापस नहीं आया और न ही विश्वेश्वरी की किसी कॉल का उत्तर दिया । कुछ दिन के बाद उसका फोन आया और कहा कि मैं तुमसे शादी नहीं कर सकता। इस पर महिला ने उससे कहा कि तुम मेरे साथ पिछले 5-6 महीनों से पति की तरह रह रहे हो।अब तुम्हें क्या हो गया है। तो उसने कहा कि अगर यह बात तुमने किसी को बताई तो मैं तुम्हें और तुम्हारे बच्चों को मार डालूंगा।

तुम्हें मेरी पहुंच का अंदाजा नहीं है। तुझे नहीं पता मैं तेरे और तेरे बच्चों के साथ क्या क्या कर सकता हूं। यह कह कर रजनीश ने महिला का नंबर ब्लॉक कर दिया और लापता हो गया,महिला उसकी धमकियों से डर कर अपने बच्चों को लेकर रामगढ़, झारखंड आ गई।


महिला ने अपने आवेदन में लिखा है कि रजनीश ने उसकी पूरी जिंदगी तबाह कर दी।” अब न तो मैं अपने मायके जा सकती हूं और न ही अपने पति के पास। रजनीश ने उसका शारीरिक, मानसिक और आर्थिक शोषण किया है‌। मेरे साथ साथ मेरे बच्चों का लाइफ को भी डिस्टर्ब किया है। मैं मानसिक रूप से डिस्टर्ब हूं। मुझे अपने आप से घिन हो रही है। रजनीश ने मेरी पूरी जिंदगी बर्बाद कर दी।”
‘न इस धोखेबाज रजनीश से शादी कर सकती हूं‌। मेरी जो एक नौकरी थी वह भी रजनीश की धोखे की वजह से जा चुकी है।मेरे पास अपने जीवन खत्म करने के अलावा कोई रास्ता नहीं दिख रहा है।’

एसपी को दिए आवेदन में महिला ने लिखा है कि मैं आपसे अनुरोध करती हूं मुझे न्याय देने की कृपा करें। मेरा मान, प्रतिष्ठा, जीने की उम्मीद सब कुछ खत्म हो गया है। ऊपर से रजनीश कुमार पुलिस विभाग में नौकरी करने के बावजूद रक्षक हो कर भक्षक का काम किया है।

मैं अनुरोध करती हूं कि मेरा जीवन तो बर्बाद हो ही गया है अब कोई कानून भी मेरा मान सम्मान को वापस नहीं कर सकता है। लेकिन आगे से किसी महिला के साथ कोई भी व्यक्ति ऐसा घिनौना काम न करे इसलिए रजनीश के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए उसे कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

ब्रेकिंग : मोतिया महिला हत्याकांड में चार आरोपी गिरफ्तार ।

बीते दिनों मोतिया ओपी थाना क्षेत्र के नयाबाद जंगल मे मिला था महिला का गला …

08-03-2021 02:00:26×