Home / ताजा खबर / बच्ची का जीवन बचाने के लिए आगे आई युवाओं के साथ पुलिस ,एसपी ने ढूंढा डोनर ,आईआरबी जवान ने दिया खून ।

बच्ची का जीवन बचाने के लिए आगे आई युवाओं के साथ पुलिस ,एसपी ने ढूंढा डोनर ,आईआरबी जवान ने दिया खून ।

एसपी ने ढूंढा रेयर ब्लड वाले डोनर ।आईआरबी जवान ने खून देकर बचाई बच्ची की जान ।

लॉकडाउन के बीच कैसे बची बच्ची की जान पढ़ें पूरी खबर….

गोड्डा/आज सुबह सुबह सोशल मीडिया पर B निगेटिव खून की सख्त जरूरत की बातें वायरल हो रही ,इस बीच शहर के रक्तवीरों की टोली में से एक हैल्पिंग हैंड नामक युवाओं की टोली डोनर ढूंढने में लगी हुई थी ,सूचनाएं फैलाने और संपर्क साधने के लिए सभी लोग सोशल मीडिया का सहारा ले रहे थे ।
हैल्पिंग हैंड टीम से कई युवा जिसमे फरहान खान,लालबहादुर ,पत्रकार राघव मिश्रा, मलिक ,प्रसेनजित सिंह,प्रियांशु ,अनुराग झा,आदिल अनवर,आदि लड़कों की पूरी टोली सक्रिय रूप से लगी हुई थी ।तमाम अपडेट व्हाट्सएप और फोन के जरिये किया जा रहा था,

और दूसरी तरफ 17 वर्षीय किशोरी को टायफायड के बाद दवा रिएक्शन की वजह से अति रक्तस्राव हो रहा था, खून की कमी हो गयी थी,जिससे जान पर बन आयी थी।जानकारी के बाद सोशल मीडिया पर आमजनों ने भी गुहार लगाई बी निगेटिव रक्त की सख्त आवश्यकता है जो रेयर ग्रुप माना जाता है ।डॉक्टर के अनुसार 6 यूनिट ब्लड की जरूरत थी ।ब्लड बैंक में ब्लड नही रहने की स्थिति में सभी लोग परेशान थे,हैल्पिंग हैंड भी उस लड़की की जान बचाने की फिक्र में थी।
इसी बीच एक व्हाट्सएप ग्रुप में मैसेज गिरता है कि बी निगेटिव की अति आवश्यकता है इसपर गोड्डा एसपी शैलेन्द्र बर्णवाल ने रिप्लाय देते हुए कहा कि ढूंढ रहा हूँ ,मिलते ही सूचित करूँगा ।

महगामा के डोनर ब्लड डोनेट केरते हुए ,साथ मे महगामा थाना प्रभारी
महगामा के डोनर ब्लड डोनेट केरते हुए ,साथ मे महगामा थाना प्रभारी

इधर हैल्पिंग हैंड टीम भी पूरी तरह सक्रिय हो चुकी थी ,पथरगामा में बैठे प्रसेनजित सिंह से राघव ने संपर्क साधा उन्होंने महगामा के किसी व्यक्ति से संपर्क किया महगामा में डोनर मिल गया ,लेकिन डोनर को गोड्डा लाने में कठिनाई और वक्त लगता
फिर गोड्डा एसपी से उन्हें लाने में मदद का आग्रह किया गया उन्होंने तुरंत नम्बर के साथ महगामा पुलिस को सूचित कर दिया ।

हलांकि इस बीच पता चला कि गोड्डा प्राइवेट अस्पताल में बी निगेटिव है ,उनसे युवाओं ने आग्रह कर तुंरन्त मदद करने को कहा ,गोड्डा हॉस्पिटल ने भी मानवता दिखाई और तुंरन्त एक यूनिट ब्लड दिया हलांकि उस ब्लड की भी जांच प्रक्रिया होनी थी तबतक गोड्डा एसपी ने सूचना दी कि पोड़ैयाहाट से दो आईआरबी के जवान और एक गोड्डा की महिला कॉन्स्टेबल ब्लड डोनेट करने को तैयार हुई है ,एसपी ने पूछा इनको जाना कहाँ है ?जवाब सदर अस्पताल का ब्लड बैंक आया ,वहां युवा टीम खड़ी थी तबतक आईआरबी के जवान ब्लड देने पहुंच गए ,डोनेशन प्रक्रिया चल रही थी तबतक प्राइवेट हॉस्पिटल से एक यूनिट ब्लड मिल गया ,लड़की का उपचार जारी हो गया था लेकिन ब्लड की भारी कमी थी ,अबतक दो ही यूनिट मिल पाए थे जिसमें गोड्डा हॉस्पिटल एक यूनिट और आईआरबी के जवान एक यूनिट,चूंकि दो आईआरबी जवान में एक ने आठ दिन पूर्व ही ब्लड डोनेशन किया था तो उनका ब्लड नही लिया गया और महिला कॉन्स्टेबल दो महीने पहले किसी बीमारी से बाहर आई थी तो उनका भी ब्लड नही लिया गया ।
कोसिसें लगातार जारी थी कि हम जरूरत भर उपलब्धता को पूरी करें और बच्ची को बचा लें ।

आईआरबी का जवान ब्लड डोनेट करते हुए ।
आईआरबी का जवान ब्लड डोनेट करते हुए ।साथ है हैल्पिंग हैंड से फ़रहान एवं पुलिस अधिकारी।

इस बीच एसपी के निर्देश पर महगामा थाना प्रभारी महगामा वाले डोनर को लेकर ब्लड बैंक पहुंच जाते हैं जहां उनके ब्लड को लेकर बैकअप में रखा गया है ,डॉक्टर के अनुसार लड़की को छ: यूनिट ब्लड चढ़ना है ,लेकिन खुशी की बात यह है कि लड़की को ब्लड चढ़ना शुरू हो चुका था ।
इस बीच पुलिस की ओर से एक सुखद खबर और आ गई कि गोड्डा एसडीपीओ अरविंद सिंह का भी ब्लड ग्रुप बी निगेटिव है और उन्होंने भी फोन कर युवाओं को कहा कि हम भी तैयार हैं देने के लिए ब्लड ,हलांकि आज ब्लड की आवश्यकता पूरी हो गई थी इसलिए गोड्डा एसडीपीओ कल ब्लड डोनेशन देंगे ।

फिलहाल बच्ची का इलाज शुरू हो चुका है और अभी वो ठीक है ।

इस बीच दो और मरीज को बी निगेटिव की जरूरत पड़ गई है पूरी टीम भी सक्रिय है कि रक्त की कमी के कारण किसी की जान न जाय ।
आज एस पी द्वारा जिसप्रकार से मामले पर संज्ञान लेते हुए अपने आई आर बी के जवानो को सदर अस्पताल भेज किशोरी को उपलब्ध खून उपलब्ध करवाया गया ,जिसप्रकार थानाप्रभारी के द्वारा डोनर को महगामा से लाया गया,जिसप्रकार एसडीपीओ खून देने को तैयार हुए और जिसप्रकार पुलिस और युवाओं ने मिलकर 2 घण्टे के भीतर ब्लड की कमी से जूझ रही बच्ची का इलाज शुरू करवा दिया
यह पुलिस और पब्लिक के बीच के संदेश को दर्शाती है ।

क्या कहते हैं एसपी :

जैसे ही हमे इस बात की जानकारी मिली हमने डोनर ढूंढना शुरू कर दिया था।
हैल्पिंग हैंड से फरहान,पत्रकार राघव,लालबहादुर एवं प्रसेनजित इत्यादि ने सोशलमीडिया पर लगातार कॉर्डिनेट कर इसपर नजर बनाया ,हमने लड़की की जान बचाने को आज सुबह की पहली प्राथमिकताओं में लिया और आखिरकार हमारा प्रयास सफल रहा,पुलिस हमेसा से जनता के साथ खड़ी है आज गोड्डा के युवाओं और पुलिस ने मिकलर यह साबित कर दिया ।हमेसा से पुलिस पब्लिक का यह रिश्ता कायम रहे ।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

Twitter पर #JusticeForPujaBharti कर रहा ट्रेंड, उठ रही जल्द इंसाफ की मांग ।

गोड्डा की बेटी का मिला था पतरातू डैम से शव,हत्या की आशंका । गोड्डा की …

01-27-2021 07:08:48×