Home / ताजा खबर / विधायक के पहल पर युद्ध स्तर पर चापाकलों की मरम्मती कार्य तेज,1000 चापाकल से दूर होगा महगामा का जलसंकट ।

विधायक के पहल पर युद्ध स्तर पर चापाकलों की मरम्मती कार्य तेज,1000 चापाकल से दूर होगा महगामा का जलसंकट ।

  • दस लाख रुपये की सामग्री ईसीएल ने मुहैया कराई
  • 600 चापाकलों की मरम्मत पीएचइडी के जिम्मे,
  • 400 चापाकल अडाणी, एनटीपीसी और नगर पंचायत प्रशासन करा रहा दुरुस्त

गोड्डा/गर्मी के दिनों में भीषण जल संकट से जूझ रहे महागामा विधान सभा क्षेत्र के तीन प्रखंड महागामा, मेहरमा और ठाकुरगंगटी प्रखंड की कुल 68 पंचायतों में 1000 चापाकल की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए महागामा विधायक दीपिका पांडेय सिंह की पहल पर ईसीएल की सीएसआर मद से दस लाख रुपये की सामग्री पीएचइडी को मुहैया करा दी गई है। अब तक इन तीन प्रखंडों में 800 चापाकलों पर काम शुरू कर उसे चालू कर दिया गया है।

विधायक का दावा है कि आगामी मई माह में 1000 से अधिक चापाकलों को दुरुस्त कर उसे जनता की सेवा में चालू कर दिया जाएगा। इसके साथ राज्य सरकार की ओर से प्रति पंचायत पांच नए चापाकल गाड़ने की कार्ययोजना अंतिम चरण में है। विभागीय स्तर से इसकी टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। महागामा विस क्षेत्र के लिए 340 नए चापाकलों की व्यवस्था मई-जून माह तक सुनिश्चित हो जाएगी।

विधायक ने बताया कि पीएचइडी की ओर से यहां 600 पुराने चापाकलों की मरम्मत युद्ध स्तर से की जा रही है। इसके लिए ईसीएल की ओर से विभाग को दस लाख रुपये की सामग्री मुहैया करा दी गई है। वहीं नगर पंचायत प्रशासन, एनटीपीसी और अडाणी पावर की ओर से भी कुल 400 चापाकलों की मरम्मत हो रही है। इस कार्य में वैसे चापाकलों को भी दुरुस्त किया जा रहा है जिसमें 14वें वित्त आयोग की मद से सोलर जलमीनार लगाई गई थी। उन चापाकलों के समरसेबल पंप और पाइप आदि को बदला जा रहा है।

इधर मेहरमा प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत इटहरी एवं सुरनी पंचायत के आधा दर्जन से अधिक खराब पड़े चापाकल की मरम्मत शुक्रवार को कराकर उसे चालू कर दिया गया है। इससे ग्रामीणों को पेयजल की हो रही किल्लत से राहत मिल गई है। स्थानीय पूर्व मुखिया ब्रह्मदेव रजक, ग्राम प्रधान निर्मल कुमार पोद्दार, अरविद कुमार आदि ने बताया कि खराब पड़े चापाकलों की मरम्मत को लेकर विधायक की पहल अब रंग ला रही है। सभी चापाकलों को दुरुस्त करा दिया जा रहा है।
विधायक दीपिका पांडेय सिंह ने बताया कि महागामा विस क्षेत्र के तीन प्रखंडों में 1000 चापाकल को तत्काल चालू करने का लक्ष्य है, जबतक 800 चापाकलों पर काम शुरू है। इस मुहिम में पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अलावा अडाणी, नगर पंचायत, एनटीपीसी सहित ईसीएल की ओर से अहम योगदान दिया जा रहा है। भीषण गर्मी में लोगों को खास करके इस कोरोना काल में पानी की गंभीर समस्या से अब जूझना नहीं पड़ेगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से अपील की है वे इसपर पैनी निगाह रखें ताकि लोगों को पानी की समस्या से निजात मिल सके।

SC – Jagran

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

इन कामों में नहीं लगेगा ‘E-Pass’, झारखंड परिवहन विभाग ने किया आदेश में संसोधन

झारखंड में ई पास व्यवस्था में कुछ छूट देने का एलान किया गया है। परिवहन …

05-18-2021 06:55:57×