Home / गोड्डा प्रखण्ड / लुटेरे पुलिस की गिरफ्त से बाहर ,मूकदर्शक बनी है अबतक पुलिस ।
घायल पीड़ित महिला के चचेरे ससुर

लुटेरे पुलिस की गिरफ्त से बाहर ,मूकदर्शक बनी है अबतक पुलिस ।

बेखौफ होकर अपराधी दे रहे है घटना को अंजाम

जिले में अपराधी बेखौफ होकर लूट जैसी घटना को अंजाम दे रहे है। इसके बाद भी जिले की पुलिस कोई सुराग लगाने में नाकाम है। पूर्व में हुई लूट की घटना का भी पुलिस आज तक खुलासा नहीं कर सकी है। व्यापारियों में दहशत है। अधिकारी सिर्फ कहानी गढ़ रहे हैं।

Screenshot_20180820-152922

बता दें कि सोमवार को नगर थाना क्षेत्र के एसबीआई बाजार शाखा के सामने से रूबी देवी नाम की महिला से मोटरसाइकिल सवार अपराधियों ने करीब साढ़े चार लाख रूपये की छिनतई कर ली थी। सूत्रों की माने तो एसबीआई शाखा में लगे सीसीटीवी कैमरे में दो संदिग्ध की तस्वीर कैद हुई है। पीड़ित महिला से चेहरा भी पहचनवाया गया है। लेकिन फुटेज देखने के बाद भी पुलिस अब तक न तो अपराधियों को पकड़ सकी है और न ही उनकी पहचान कर सकी है। विगत आठ अगस्त को भी नगर थाना क्षेत्र के सरोतिया के पास फाइनांस कंपनी के कर्मी से डेढ़ लाख की लूट रिवाल्य दिखा कर की गयी थी उस घटना का खुलासा करने में भी पुलिस नाकाम है। लगातार हो रही लूट की घटनाओं से व्यापारियों में दहशत है। इस सम्बन्ध में पुलिस पदाधिकारी का कहना है कि छानबीन जारी है जल्द ही लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। इसके पूर्व विगत 18 अगस्त को मेहरमा बाजार में ही एक वृद्ध से करीब चालीस हजार रूपये की छिनतई कर ली गयी थी। इस घटना में भी पुलिस अपराधी को गिरफ्तार करने में नाकाम रही है।
लूट जैसी घटना की तह तक जाना पुलिस के लिए चुनौती बन गई। पुलिस घटना के खुलासे के लिए कई बिदुओं पर जांच कर रही है। सीसी टीवी फुटेज में घटना के समय तीन युवक रास्ते से भागते हुए देखे गए थे। पुलिस उनकी पहचान कराने के लिए कड़ी मशक्कत कर रही थी। क्षेत्र में पुलिस संदिग्धों को गिरफ्तार करने के लिए मुखबिरों का जाल बिछा दिया।

घायल पीड़ित महिला रूबी देवी
घायल पीड़ित महिला रूबी देवी

 

बेख़ौफ़ होकर अपराधी दे रहे घटना को अंजाम

 

नगर थाना की पुलिस के लिए घटना का खुलासा करना चुनौती बन गया। पुलिस ने भागलपुर रोड स्थित होटल या अन्य संस्थानों में बाहर की ओर लगे सीसी टीवी कैमरे की फुटेज खंगालने में जुट गयी है। पुलिस की जांच वहीं पर जा कर अब तक रूकी हुई है। पुलिस संदिग्धों की पहचान कराने में जुट गई। पुलिस को मंगलवार को पता चला कि संदिग्ध आसपास के इलाके के ही है। पुलिस उसको गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने अपना जाल बिछा दिया। अगर पुलिस का शक सही है तो संदिग्ध की गिरफ्तारी के बाद कई विगत दिनों हुए लूटकांड का से पर्दा उठ जाएगा।

 

सुरक्षा के मानकों पर भी उठ रहे सवाल :

इस लूटकांड की घटना ने बैंक प्रबंधन के सुरक्षा की भी पोल खोल दी है। एसबीआई बाजार शाखा में जब पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगालने पहुंची तो अधिकांष कैमरे खराब पाए गए। जिसके कारण पुलिस को इस घटना के तह तक जाना एक टेढ़ी खीर साबित हो रही है। इसके अलावे जो मुख्य द्वार पर कैमरे लगे है उससे बाहर का फिगर भी अच्छी तरीके से नहीं आ रहा है। जानकारों की माने तो सुरक्षा के मानकों पर ध्यान रख कर ही सीसीटीवी कैमरा संस्थानों पर लगाया जाता है। लेकिन बैंक प्रबंधन इन निमयों से कोसों दूर है। इस कारण ही पुलिस को अन्य निजी संस्थानों का सहायता लेना पड़ रहा है। बैंक से कारगिल चौक की ओर व मिशन चौक की ओर वाले संस्थानों पर भी पहुंच रही है जहां पर सीसीटीवी कैमरा का इस्तेमाल होता है। घटना के दौरान आने व जाने वाले का पहचान करने की कोशिश कर रही है।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

Twitter पर #JusticeForPujaBharti कर रहा ट्रेंड, उठ रही जल्द इंसाफ की मांग ।

गोड्डा की बेटी का मिला था पतरातू डैम से शव,हत्या की आशंका । गोड्डा की …

01-27-2021 11:04:36×