Home / जरा हटके / पिता सिविल कोर्ट में करते हैं प्रैक्टिस,बेटी ने निकाला CLAT की परीक्षा,देश में 27वां रैंक लाकर अनुप्रिया बनी झारखण्ड टॉपर

पिता सिविल कोर्ट में करते हैं प्रैक्टिस,बेटी ने निकाला CLAT की परीक्षा,देश में 27वां रैंक लाकर अनुप्रिया बनी झारखण्ड टॉपर

  • गोड्डा की बेटी ने बढ़ाया मान,देश में 27वां रैंक लाकर अनुप्रिया बनी झारखण्ड की CLAT टॉपर

राघव मिश्रा/पढ़ाई अगर लगन से की जाय तो कुछ भी हासिल किया जा सकता है ,कड़ी मेहनत और पिता का सहारा ने बेटी को देश मे अव्वल बनाकर खड़ा कर दिया है,गोड्डा की बेटी ने जिले का मान बढ़ाया है ,गोड्डा की अन्ना अनुप्रिया झारखण्ड की क्लैट (CLAT)टॉपर बनी है , अन्ना अनुप्रिया को यह सफलता पहले ही प्रयास में मिली है ,अन्ना अनुप्रिया जिले के अधिवक्ता धर्मेंद्र नारायण की पुत्री है ,उनके पिता सिविल कोर्ट में प्रैक्टिस करते हैं और बार काउंसिल सदस्य हैं ।

क्या है क्लैट परीक्षा :
CLAT का आयोजन एलएलबी और एलएलएम लॉ कोर्स में एडमिशन के लिए कराया जाता है। यह एक नेशनल लेवल का एग्जाम होता है। … क्लैट एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद परीक्षार्थी 21 नैशनल लॉ यूनिवर्सिटी (NLUs) में से किसी एक में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं।

अन्ना बनी है कि CLAT में झारखण्ड टॉपर :

अन्ना उत्तराखण्ड यूनवर्सिटी से बीएलएलबी कर चुकी है ,वह उत्तराखण्ड के ही देहरादून लॉ कॉलेज में पढ़ती है ।
लॉकडाउन से ही अन्ना गोड्डा में ही है और यहीं से पढ़ाई कर रही है,पूरे देश मे अन्ना को 27वां रैंक मिला है ,देश मे लड़कियों के बीच अन्ना ने 14वां रैंक लाया है ।अन्ना क्लैट(CLAT) टॉपर बनने के बाद काफी खुश है ।अन्ना अपनी सफलता का सारा श्रेय अपने अधिवक्ता पिता धर्मेंद्र नारायण को दी है.

फ़ोटो: अन्ना अनुप्रिया

गोड्डा की बेटी सुप्रीम कोर्ट में करना चाहती है वकालत :

अन्ना ने बताया कि क्लैट कंप्लीट कर वो अपना कैरियर चुनेगी ,क्लैट में चयन के बाद अन्ना अनुप्रिया बैंगलोर पढ़ाई के लिए जाएगी एवं बेहतर भविष्य को चुनेगी ,अन्ना के पिता ने बताया कि उनकी बेटी देहरादून लॉ कॉलेज में भी लॉ टॉपर रही थी, रिसर्च के दौरान अन्ना अनुप्रिया ने बेहतर थॉट्स लिखे हैं ,तथा विभिन्न मुद्दों पर रिसर्च भी किया है ,अन्ना अनुप्रिया को उसके रिसर्च के लिए देश के वरिष्ठतम जजों द्वारा पुरुस्कार भी मिला है ।
अन्ना ने बताया कि वह अपना कैरियर सुप्रीम कोर्ट में बनाना चाहती है ,सुप्रीम कोर्ट में अन्ना अधिवक्ता के रूप में सेवा देना चाहती ।

अन्ना अनुप्रिया ने बढ़ाया जिले का मान

अन्ना अनुप्रिया के इस सफलता के बाद जिले वासियों में हर्ष है ,अन्ना के परिवार से लेकर सभी स्वजन अन्ना और उनके अधिवक्ता पिता को बधाई दे रहे हैं ,अन्ना ने देश की लड़कियों के बीच 14वां रैंक हासिल किया इसको लेकर अन्ना बताती है कि लड़कियों को भी इस क्षेत्र में और अधिक रुचि लेने की जरूरत है ।क्लैट कंप्लीट कर अन्ना बड़ी कंपनियों की भी अधिवक्ता बन सकती है लेकिन अन्ना अपना कैरियर सर्वोच्य न्यायालय की तरफ देख रही है ।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

IAS और IPS में कौन सी पोस्ट होती है ज्यादा शक्तिशाली और कितनी होती है इनकी सैलरी? जानें यहां

UPSC यानी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (Union Public Service Commission) जैसा की नाम से ही …

09-23-2021 15:52:24×