Home / ताजा खबर / मिसाल:शादी से आठ घंटे पहले टूटी दुल्‍हन की रीढ़ की हड्डी,दूल्‍हे ने रिश्ते को किया कबूल ।

मिसाल:शादी से आठ घंटे पहले टूटी दुल्‍हन की रीढ़ की हड्डी,दूल्‍हे ने रिश्ते को किया कबूल ।

प्रतापगढ़। आपने ऐसे बहुत से किस्से, खबरें जरुर सुनी होगी, पढ़ी होगी जिसमें दहेज़ के लोभी तो बिना इंसानियत वाले लोग दहेज़ के कारण, बारातियों की खातिरदारी पसंद के मुताबिक न होने या फिर लड़की और उसके परिवार में कोई कमी होने के कारण शादी तोड़ देते हैं। यहाँ तक की कई दरवाजे पर आई बारात भी वापस चली जाती है।

लेकिन इन सब बुराइयों के उलट समाज में आज भी कई जिंदादिल लोग मौजूद हैं, जो अपने जीवन में इंसानियत को ज्यादा अहमियत देते हैं। प्रतापगढ़ के एक शख्स ने इंसानियत और मोहब्बत की ऐसी मिसाल पेश की है, जिसे लोग बरसों तक याद रखेंगे।

बता दें शादी के फेरों से महज 8 घंटे पहले एक हादसे में दुल्हन के पूरी तरह अपंग हो जाने के बावजूद शख्स ने न सिर्फ रिश्ते को कबूल किया, बल्कि होने वाली पत्नी को एम्बुलेंस से उसके घर बुलाकर स्ट्रेचर पर लेटी हुई हालत में शादी की सभी रस्में अदा कीं।

प्रतापगढ़ के कुंडा इलाके की रहने वाली आरती मौर्य की शादी नजदीक के ही गांव के अवधेश के साथ तय हुई थी, 8 दिसंबर को बारात आनी थी। दोनों ही घरों में शहनाइयां बज रही थीं। परिवार के सदस्य और दूसरे मेहमान तैयार हो रहे थे, तभी दोपहर में छत पर खेल रहे अपने तीन साल के भतीजे को बचाने के चक्कर में आरती छत से नीचे गिर गई।

इस हादसे में आरती के रीढ़ की हड्डी पूरी तरह टूट गई और दोनों पैरों की ताकत चली गई। कमर और पैर समेत शरीर के दूसरे हिस्सों में भी चोट आई। हादसे के बाद शादी वाले घर में कोहराम मच गया। घर वालों ने उसे प्रयागराज के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया।

दुल्हे ने लिया बड़ा फैसला
अस्पताल में डॉक्टरों ने जब ये बताया कि फिलहाल वो अपंग हो गई है और कई महीने तक बिस्तर से नहीं हिल सकती तो सभी के होश उड़ गए। आरती के घरवालों और दूसरे लोगों को लगा कि लड़के वाले अब शादी तोड़ देंगे, क्योंकि इलाज के बावजूद उसके पूरी तरह ठीक होने की उम्मीद थोड़ी कम थी। लेकिन उस वक्त दूल्हे अवधेश ने जो फैसला लिया, उसकी उम्मीद किसी को नहीं थी। किसी ने कल्पना भी नहीं की थी कि साधारण से परिवार का सामान्य सा नजर आने वाला अवधेश जो कदम उठाएगा, वो उनकी सोच से परे होगा।

अवधेश ने कहा
जब पूरे मामले की सच्चाई और घटना की जानकारी दूल्हे अवधेश को भी दी गई। परिवार वालों ने दूल्हे अवधेश और उसके घरवालों को दुल्हन आरती की छोटी बहन से शादी का ऑफर दिया, लेकिन अवधेश ने ठान लिया था कि आरती ही उसकी जीवनसंगिनी बनेगी चाहे कुछ भी हो, वो जीवन भर उसका साथ निभाएगा।

अवधेश ने कहा कि वो इस हालत में भी न सिर्फ आरती को पत्नी के तौर पर अपनाएगा, बल्कि शादी भी उसी दिन तय वक्त पर ही होगी। अवधेश ने कहा भले उसे अस्पताल के बेड पर जाकर ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम के सहारे इलाज करा रही आरती की मांग भरनी पड़े, लेकिन शादी नहीं टलेगी। वो पत्नी की सेवा करते हुए उसका सहारा और साथी बनकर उसके दर्द को बांटना चाहता है।

जिसके बाद अवधेश की जिद पर डाक्टरों की टीम से परमीशन लेकर आरती को दो घंटे बाद एम्बुलेंस से वापस घर लाया गया। उसे स्ट्रेचर पर लिटाकर शादी की रस्में अदा की गईं। ऑक्सीजन और ड्रिप लगी होने की सूरत में ही उसकी मांग भरी गई। आम दुल्हनों की तरह आरती की भी विदाई हुई। ये अलग बात है कि ससुराल जाने के बजाय वो वापस अस्पताल लाई गई। अगले दिन होने वाले ऑपरेशन के फार्म पर खुद अवधेश ने पति के तौर पर दस्तखत किए।

आज के दौर में मिसाल है अवधेश का प्रेम
अवधेश हर वक्त अपनी पत्नी की सेवा कर रहे हैं शादी के हफ्ते भर बीतने के बाद भी अवधेश एक पल के लिए भी अस्पताल से बाहर नहीं निकले। उसे जल्द ठीक होने का भरोसा दिला रहा हैं और दुनिया के सामने अपनी मोहब्बत की अनूठी मिसाल पेश कर रहे हैं. आरती को अगले कई महीनों तक उसे बिस्तर पर ही रहना होगा. सामान्य जिंदगी जीने में उन्हें लम्बा वक्त लग सकता है, लेकिन उन्हें खुशी है कि उन्हें जीवन में अवधेश जैसा जीवन साथी मिला।

ये सच्ची कहानी कुछ फ़िल्मी सी है:
सुनने में फिल्मी सी लग रही ये कहानी 15 साल पहले रिलीज हुई शाहिद कपूर और अमृता राव की फिल्म विवाह की रियल लाइफ रीमेक है। सूरज बड़जात्या द्वारा निर्देशित राजश्री प्रोडक्शन की फिल्म विवाह में शाहिद कपूर ने जो रोल अदा किया था, उसी के दम पर फिल्म सुपरहिट हुई थी।

फिल्म में भी बारात आने से कुछ देर पहले ही दुल्हन बनी अमृता राव हादसे का शिकार होकर अस्पताल पहुंच गईं थीं। अवधेश द्वारा उठाए गए कदम से साफ है कि रिश्तों को निभाने और जज्बात को समझने की बातें सिर्फ फिल्मों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि असल जिंदगी के रियल लाइफ हीरोज भी ऐसे काम करते हुए मिसाल पेश करते रहते हैं। ये आरती की खुशनसीबी है की उन्हें अवधेश जैसा जीवनसाथी मिला है।

Source: Gaurakhpur Live

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

नया अपडेट में Whatsapp नही कर रहा है आपके प्राइवेसी से छेड़छाड़,अफवाह के बाद आया कंपनी का जवाब ।

दरअसल फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी whatsapp ने हाल ही में एक नया अपडेट लाया …

01-20-2021 14:08:49×