Home / ताजा खबर / घर की ढिबरी से लगी आग,मासूम बच्ची की जान अब डॉक्टर के हाथ,हुई रेफर ।

घर की ढिबरी से लगी आग,मासूम बच्ची की जान अब डॉक्टर के हाथ,हुई रेफर ।

अभिजीत तन्मय गोड्डा/सरकार भले लाख दावे और वादे कर ले लेकिन सरकारी आंकड़े भले कुछ और कहते हों लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और बयां कर रही है। सरकार गाँव गांव बिजली दे रही है और वो बिजली भी 24 घंटे देने का आश्वासन भी दिया जा रहा है लेकिन आज जो दर्दनाक घटना सामने आई वो सरकार की कार्यशैली और उसके दावे को खोखला साबित कर रही है।
आज तड़के सुबह गोड्डा जिला के मोतिया ओपी क्षेत्र के मोतिया गाँव में एक घर की ढिबरी से आग लग गयी जिसमे अपनी माँ के बगल में सोई नन्ही सी जान 3 माह की बच्ची बुरी तरह झुलस गई। छट्ठू दास की नवजात बेटी अपने नानी घर मे ही रह रही थी क्योंकि प्रसव के बाद से ही बच्ची की माँ प्रियंका देवी मायके में ही थी।

बिजली की दयनीय स्थिति किसी से छुपी हुई है यही कारण था कि घर मे ढिबरी जल रहा था। आज सुबह 5 बजे के लगभग कैसे ढिबरी गिरा ये पता नही लेकिन बिछावन मे आग लग गयी। जब तक आग पर काबू किया जाता तब तक बच्ची झुलस चुकी थी। आनन फानन में उसे सदर अस्पताल लाया गया जहां उसका प्राथमिक उपचार कर बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया।
गरीब परिवार को इलाज करवाने मे भी समस्या है क्योंकि बच्ची की माँ का नाम राशन कार्ड में नही है और उसका ससुराल भी बिहार पड़ता है ऐसे में घरवाले काफी परेशान है।
सबसे दुखद पहलू ये है इसी गाँव मे “अडानी का पॉवर प्लांट”लग रहा है यानी चिराग तले अँधेरा!
घरवाले बोकारो ले जाने की तैयारी में जुटे हुए है लेकिन सवाल ये उठता है कि मूलभूत सुविधाओं से वंचित समाज का एक बड़ा तबका अगर ऐसे ही महरूम रहेगा तो “बेटी बचाओ” अभियान पर यूँ ही ग्रहण लगते रहेगा!

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

कोरोना पर हेमंत सरकार की नयी गाइडलाइन, जानिए राज्य में क्या खुला और क्या बंद ।

झारखण्ड/कोरोना संक्रमण की ताजा स्थिति को लेकर रांची में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई। …

04-13-2021 04:46:47×