Home / ताजा खबर / जिले मे कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग एवं मॉक ड्रिल के प्रशिक्षण का किया गया आयोजन ।

जिले मे कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम के लिए कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग एवं मॉक ड्रिल के प्रशिक्षण का किया गया आयोजन ।

कोरोना वायरस ( कोविड -19) के संक्रमण की फैलाव एवं रोकथाम हेतु संदिग्ध व्यक्तियों एवं उनके संपर्क में आए अन्य व्यक्तियों की पहचान एवं गत दिनों की यात्रा संभावित संपर्क स्थलों की पहचान करना आवश्यक होता है। ताकि कोरोना पीड़ित व्यक्तियों की पहचान की जा सके :उपविकास आयुक्त गोड्डा

आज स्थानीय भतडीहा स्थित नगर भवन में कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग एवं मॉक ड्रिल हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम उप विकास आयुक्त श्री सुनील कुमार, सहायक समाहर्ता गोड्डा सह प्रशिक्षु आईएएस श्री ऋतुराज , अपर समाहर्ता रंजीत कुमार लाल ,अनुमंडल पदाधिकारी गोड्डा संजय पीएम कुजूर ,अनुमंडल पदाधिकारी महागामा हरिवंश पंडित , उप निर्वाचन पदाधिकारी सह सूचना जनसंपर्क पदाधिकारी गोड्डा विवेक सुमन पदाधिकारी वं अन्य वरीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में स्वास्थ विभाग की ओर से कोरोना वायरस को लेकर प्रशिक्षण प्रदान की गई ।प्रशिक्षण कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त श्री सुनील कुमार के द्वारा बताया गया कि जिले में कोरोना वायरस के बचाव एवं रोकथाम के लिए यह कार्यक्रम आयोजित की गई है। इसका मुख्य उद्देश्य कोरोना पीड़ित व्यक्तियों को यथाशीघ्र सुविधा मुहैया कराई जाए ताकि जिले में कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्तियों की इलाज एवं सही समय पर उनकी पहचान कर उनका इलाज कराया जा सके ताकि अन्य लोगों के संक्रमण का खतरा कम हो। महोदय के द्वारा बताया गया कि वर्तमान समय में कोरोना वायरस लगभग 200 देशों में विराट रूप धारण कर चुका है अतः हमें अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए अपने स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सजग रहना चाहिए ।जब भी घरों से निकले मास्क का प्रयोग अवश्य करें आवश्यकता पड़ने पर ही घरों से बाहर जाए अन्यथा घरों में रहें सुरक्षित रहें ताकि संक्रमण का भय बहुत ही कम हो। महोदय के द्वारा सोशल डिस्पेंसिंग का पालन अनिवार्य रूप से करने के संदेश दिए गए। प्रशिक्षु आईएएस श्री ऋतुराज के द्वारा कोरोना वायरस से संबंधित जानकारियां भी प्रदान की गई तथा मॉक ड्रिल के बारे में उन्होंने लोगों को विस्तार पूर्वक बताया ।कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगियों की पहचान कैसे की जाए एवं पहचान के उपरांत कौन-कौन से जिला प्रशासन के द्वारा आवश्यक आवश्यक कदम उठाए जाएं जिनके फलस्वरूप जिले में कोरोना वायरस से निपटा जा सके इसके लिए उन्होंने आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को जानकारियां प्रदान की। सिविल सर्जन गोड्डा के द्वारा बताया गया कि कोविड-19 में बचाव एवं रोकथाम के लिए चिकित्सक , पारा मेडिकल कर्मी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता ,सभी आपसी मेल से कार्य करें एवं इस भयानक बीमारी से लड़ने में सहयोग करें। सिविल सर्जन गोड्डा के द्वारा बताया गया कि कोरोना वायरस के प्रसार को कम करने के लिए पीपीएन 5 मास्क ट्रिपल लेयर वाला उपयोग करना है । सैनिटाइजर का प्रयोग प्रत्येक कार्यालय में स्वास्थ्य कर्मी करें। पीपीई का उपयोग आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत डॉक्टर ,नर्स, सेनेटरी स्टॉप ,एंबुलेंस स्टाफ उपयोग नितांत आवश्यक है। डब्ल्यूएचओ के डॉ0 ध्रुव महाजन के द्वारा बताया गया कि मास्क के उपयोग एवं पीपीई के उपयोग कैसे करें। कोविड-19 स्टाफ जो मृत शरीर को पैक करता है वे पीपीई का उपयोग निश्चित तौर पर करें।साथ ही साथ कोरोना वायरस को लेकर उन्होंने आवश्यक जानकारियां जिले से आए स्वास्थ्य विभाग की टीम
को प्रदान की।

IMG-20200409-WA0063

मौके पर प्रखंड विकास पदाधिकारी गोड्डा अशोक कुमार चोपड़ा, अंचलाधिकारी गोड्डा प्रदीप कुमार शुक्ला ,डी आर सी एच ओ गोड्डा डॉ0 मंटू टेकरीवाल, डॉ उज्जवल कुमार सिन्हा ,डॉ0 पीएन दर्वे ,जेएसएलपीएस डीपीएम श्री सुशील दास , मिलन नाग ,ब्लड बैंक टेक्नीशियन आईसीटीसी सदर अस्पताल गोड्डा अभिलाष कुमार, एवं अन्य स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित थे।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

कोरोना पर हेमंत सरकार की नयी गाइडलाइन, जानिए राज्य में क्या खुला और क्या बंद ।

झारखण्ड/कोरोना संक्रमण की ताजा स्थिति को लेकर रांची में आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक हुई। …

04-16-2021 09:04:04×