Home / ताजा खबर / गोड्डा में ब्लैक फंगस के मरीज मिलने का दावा गलत,सीएस ने की कार्रवाई ,क्लिनिक होगा सील ।

गोड्डा में ब्लैक फंगस के मरीज मिलने का दावा गलत,सीएस ने की कार्रवाई ,क्लिनिक होगा सील ।

निजी क्लिनिक के डॉक्टर से शो-कॉज, अफवाह फैलाने के मामले में सरकार से लेकर डीसी एसडीओ को भी लिखा पत्र ।

गोड्डा जिले के महगामा के परासर नेत्रालय,पटना ऑफ्टीकल में सोमवार को ललमटिया के एक रोगी को ब्लैक फंगस से पीड़ित बताये जाने के बाद सीएस डाक्टर एसपी मिश्रा ने मामले की जांच करायी है,जांच के बाद बाद सीएस ने पूरे मामले को गलत बताया,सीएस ने बताया कि पूरे प्रकरण में सनसनी फैलाकर लोगों में भय पैदा करने का प्रयास किया गया है,सीएस ने कहा कि मामले को लेकर संबंधित क्लिनिक के खिलाफ कार्रवाई करते हुए स्पष्टीकरण देने के लिए नोटिस दिया गया है ।

रोगी को था साइनस बता दिया ब्लैक फंगस :

ललमटिया के हिजुकित्ता गांव के जिस रोगी की जांच को डाक्टर एसके सिंह द्वारा ब्लैक फंगस बताया गया था उस मरीज को साइनेस की परेशानी थी,बताते चलें कि सोमवार की देर शाम सोशल मीडिया पर डाले गए एक वीडियो में महगामा के क्लीनिक द्वारा जांच के बाद एक मरीज में ब्लैक फंगस के लक्षण मिलने का दावा किया गया था ,कुछ स्थानीय पोर्टल ने भी खबरें चलाई थी जिसमे डाक्टर का बयान को कोड करते हुए बीमारी को ब्लैक फंगस बताया गया ।

मामले पर कार्रवाई शुरू ,अफवाह के लिए एसडीओ को भी पत्र :

इस मामले को लेकर मंगलवार को सीएस ने पूरे मामले की जानकारी महगामा के चिकित्सा पदाधिकारी से मांगी तो तथ्य कुछ और सामने आया ।बताया गया कि जिस मरीज को ब्लैक फंगस की बीमारी बताकर भागलपुर रेफर कर दिया गया था दरअसल उसे साइनेस की परेशानी थी, हालांकि इस मामले में कार्रवाई शुरू कर दी गई है और डाक्टर से शो -कॉज मांगा गया है .

सरकार द्वारा दिये निर्देश की बात करें तो ब्लैक फंगस के बारे में जानकारी मिलते ही इसकी जानकारी सबसे पहले स्वास्थ्य विभाग को देनी चाहिए थी जबकि ऐसा नही किया गया ।
सिविल सर्जन डाक्टर शिव प्रसाद मिश्रा ने बताया कि मामला गंभीर है उस डाक्टर से कारण के साथ साथ सभी डिटेल्स देने को कहा गया है ,क्लीनिक की निबंधन कॉपी उपलब्ध कराने को कहा गया है इसके अलावे चिकित्सक को अपने बारे में पूरी जानकारी देने को कहा गया है ।

सिविल सर्जन ने हमे बताया ऐसे लोग भ्रामक जानकारी फैलाने का काम कर रहे हैं ,ब्लैक फंगस की बातें कहने वाले उस डाक्टर के डॉक्टरी पर ही संदेह है ,पूरी कागजात जमा करने को कहा गया है ।उन्होंने कहा कि मीडिया को भी तथ्य को ढूंढकर ही ऐसी खबरें चलानी चाहिए ,सिर्फ सनसनी फैलाने के लिए लोग कुछ भी बिना तथ्य के चला रहे हैं,यह पूरी तरह से गलत है ।
सिविल सर्जन ने कहा कि जल्द ही उस पारस नेत्रालय को सील कर दिया जाएगा ।इस मामले की जानकारी गोड्डा उपायुक्त सहित सरकार को भेजी गई है साथ ही एसडीओ महगामा को भी पत्र के माध्यम से सूचित कर दिया गया है ।
उन्होंने कहा कि जिले में ब्लैक फंगस जैसी बीमारी के कोई लक्षण नही मिले हैं लोग भ्रामक जानकारियों से बचें ।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

महगामा में जब्त हुआ अवैध बालू एवं छर्री डंप, पुलिस ने की छापेमारी ।

महागामा/अनुमंडल क्षेत्र के कुसुम घाटी सुंदर नदी से अवैध रूप से चोरी छिपे बालू की …

09-21-2021 23:02:33×