Home / ताजा खबर / चमकी बुखार की आहट से स्वास्थ्य महकमा अलर्ट,गांव वालों की आशंका पर लगाया गया हेल्थ कैम्प ।

चमकी बुखार की आहट से स्वास्थ्य महकमा अलर्ट,गांव वालों की आशंका पर लगाया गया हेल्थ कैम्प ।

मौसम का बदलता मिजाज जानलेवा बीमारियों के लिए मुफीद है। वायरल फीवर और मलेरिया के रोगों की बाढ़ के साथ दिमागी बुखार (इंसेफेलाइटिस फीवर) की आहट ने जिले में दस्तक देकर स्वास्थ्य महकमे को हैरान कर दिया। मंगलवार को बसंतराय प्रखंड के कैथिया पंचायत के तेज ज्वर से पीड़ित आधा दर्जन बच्चों का पथरगामा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पंजीकरण कराया गया। वही एक आठ वर्षीय बच्ची की मौत भागलपुर में इलाज के दौरान हुई है।

IMG-20190625-WA0033

इधर स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल टीम भेज कर पूरे गांव के दस वर्ष तक के बच्चे का जांच कराया जा रहा है। इस दौरान सिविल सर्जन डा रामदेव पासवान भी पहुंच और स्थिति का जायजा लिया। संक्रमण रोग के विशेषज्ञ डा यूके सिन्हा ने बताया की तेज बुखार व सिर में दर्द होने से चमकी बीमारी लक्षण नहीं है ।कहा कि ये सभी बच्चे धूप में भूखे खाली पांव घूमने से और बासी भोजन करने की वजह से इस प्रकार का तेज बुखार होता है ।

IMG_20190625_150811_3

बताया की जून माह तक अत्यधिक धूप के कारण तालाब में पानी कम हो जाने के कारण उस तलाब की मछली खाने से भी इस प्रकार की बीमारी होती है । बताया की कम पानी वाले तालाब में अगर मछली है तो मछली की ऊपर वाली परत झुलस जाती है। ग्रामीण क्षेत्र के लोग जानकारी के अभाव में ऐसी मछली का अगर सेवन करते हैं तो ऐसी ही बीमारी होती है ।वही बना हुआ मछली अगर बासी हो जाता है तो इस प्रकार की बीमारी के लक्षण होते हैं ।

भर्ती होने वाले बच्चे : पथरगामा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती होने वाले कैथपुरा के दानिश आलम (9 वर्ष)पिता मो.अब्दुल, मो.सुफियान (10)पिता मो जहांगीर,शामसूल खातून (12)पिता मो.इकबाल,सोफिया खातून (14)पिता मो.इनामुल हक, मुसमी खातून(12) पिता मो.इसराफिल ,रईस आलम(7) पिता मो.अब्दुल्ला शामिल है।

एक आठ वर्षीय बच्ची की मौत : कैथिया गांव के ही मो. हरफा की पुत्री सरीना खातून(8 वर्ष) की मौत भागलपुर में इलाज के दौरान हो गयी।

IMG_20190625_152412_1

बताया कि तीन दिन पहले से उसे तेज बुखार और सिर दर्द हो रहा था। गांव में ही स्थानीय चिकित्सक से उसका इलाज कराया जा रहा था। लेकिन सोमवार को उसकी अत्यधिक तबियत बिगड़ गयी। जहां से उसे भागलपुर ले जाया गया। वहांं भी डॉक्टर ने चमकी के लक्षण बता कर बेहतर इलाज के लिए दूसरे अस्पताल ले जाने की सलाह दी जिसके परिजन उस बच्ची के बेहतर इलाज के लिए ले जा रहे थे जहां बच्ची की मौत हो गई।

मोहल्ले के आस पास नही है सफाई ।

कैथिया गांव के जिस घर मे बच्ची की मौत हुई है वहां आसपास भी काफी गन्दगी देखने की मिला जहां सामने में ही सड़े हुए पानी का अंबार था ।

IMG_20190625_150635_0

जिसमे प्रायः सभी घरों के बत्तख तैर तैर कर कीड़ा मकौड़ा खाता है और फिर वही बत्तख घरों में जाकर ऐसी बीमारियों की दस्तक में देने ।के कोई कसर बांकी नही रखता ।गांव में नाले कीसफाई भी नही हुई थी ,सभी जगह कीड़े पनप रहे थे हालांकि पथरगामा बीडीओ को जगह एवं खराब जल का भंडार को दिखाया गया ताकि ब्लॉक स्तर पर उसे ठीक किया जा सके ।

 

हालांकि गांव में लगे हेल्थ कैम्प कर चिकित्सक ने बताया की अब कोई चमकी जैसी बीमारी के लक्षण सामने नही आया है,3 बच्चों में हाइपोग्लासिमीयां के लक्षण मिले हैं जिसे जांच के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है।
क्या है दिमागी बुखार
दिमागी बुखार बेहद खतरनाक संक्रामक रोग है, जो मेनिन्गोकोकस नामक जीवाणु से होता है। इसमें मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में सूजन आ जाती है। इसे गर्दन तोड़ बुखार भी कहा जाता है।

दिमागी बुखार के लक्षण
– झटके आना

– सिरदर्द

– तेज बुखार
– गर्दन में अकड़न

– मिचली आना

– सुस्ती या कमजोरी

– उल्टियां आना

बचाव के उपाय

– रात को खुले में न सोएं।

– दूषित पानी व भोजन से दूर रहे।

– भीड़-भाड़ वाली जगहों से बचें या वहां कम जाएं।

– यह संक्रामक रोग है, इसलिए अगर किसी व्यक्ति को पहले से ही बुखार है, तो उसके संपर्क में आने से बचें।

– अपने आसपास सफाई का खास ख्याल रखें। मच्छरों को न पनपने को दें।

क्या कहते है सिविल सर्जन
बसंतराय प्रखंड के कैथिया पंचायत में तेज बुखार से पीडित बच्चे भर्ती कराए गए है।लेकिन चमकी (दिमागी बुखार) जैसी कोई बात अबतक जांच में सामने नही आई है ।बिना कोई देरी किये गांव में मेडिकल कैंप लगाया गया है। सभी बच्चों का जांच किया जा रहा है। गंभीर बच्चों को भर्ती कराया जा रहा है।
-डा रामदेव पासवान, सिविल सर्जन गोड्डा

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

नया अपडेट में Whatsapp नही कर रहा है आपके प्राइवेसी से छेड़छाड़,अफवाह के बाद आया कंपनी का जवाब ।

दरअसल फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी whatsapp ने हाल ही में एक नया अपडेट लाया …

01-23-2021 05:24:54×