Home / गोड्डा प्रखण्ड / गोड्डा / आग की आगोश में समा गया आशियाना !

आग की आगोश में समा गया आशियाना !

आग की आगोश में समा गया आशियाना !बचे राख की ढेर में ढूंढ रहे जिंदगी !

इंसान अपनी पूरी जिंदगी तिनका तिनका सहेज कर अपने आशियाने को संवारने में गुजार देता है ,समय का थपेड़ा उस आशियाने को बिखेरने में दो पल का भी समय नही लगाता ,ऐसी ही एक दर्दनाक हादसा बीते कल गोड्डा जिला के बसंतराय थाना क्षेत्र के रनसी गाँव में घटी जिसे आग की एक मामूली चिंगारी ने एक साथ एक दर्जन घरों को अपने आगोश में समा लिया !

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (5)

आग की लपटें इतनी भयानक थी की उस समय घरवालों को “घर के सदस्यों की सिर्फ जिंदगी बच जाए” यही दिमाग में चल रहा था ,इस आग में घी का काम घर में रखे दो गैस सिलिंडर ने किया जो एक के बाद एक फटा ,सिलिंडर की धमक इतनी तेज थी की घटना स्थल से पांच किलोमीटर दायरे तक इसकी आवाज से लोग काँप गये!

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (3)

सिलिंडर फटने के कारण ही पडोस के लोग भी मदद को नहीं सट रहे थे ,चूँकि लोगों को ये अंदाजा नही था की और घर के अन्दर कितने गैस सिलिंडर मौजूद हैं ! कल किसी तरह आग पर काबू पाया गया ,लेकिन तबतक सबकुछ खत्म हो चूका था ,आग बुझने के बाद भी अन्दर इतनी उमस और गर्मी थी की लोग अपने घर के अन्दर अपने बचे सामानों को भी देखने की जहमत नही जुटा पा रहे थे !

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (5)

आज जब पीड़ितों के घर जाकर देखा तो बच्चे से लेकर बूढ़े तक राख की ढेर में अपनी जिंदगी ढूंढ रहे थे ,जिंदिगी भर की जमा पूंजी ,पूंजी के कागजात ,जाति निवासी ,बीपीएल के कागजात ,बैंक खाते .एलआईसी के पेपर सभी जलकर राख हो गये थे ,भूख से बिलबिलाते बच्चे को देख माँ राख में से जले अनाज ढूंढ रही थी

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (7)

पिता बेटी के शादी के लिए इकठ्ठा किये रूपये को जला देख स्तब्ध हो गये थे ,उसी परिवार में दो दो बेटी की शादी भी तय हो चुकी थी, ओरतें रो रो कर अपनी राख हुई दास्ताँ सुना रही थी ,कपड़े तो जल गये लेकिन बच्चे उसी राख में अपनी आधी जली किताबों को देख खुश हो रहे थे !

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (4)

,कोई जले अन्न को ही मुह में डाल का संतुष्ट हो रहा था,हर किसी के मुह से बस एक ही आवाज आ रही थी की काश बसंतराय या पथरगामा प्रखंड में अग्नि शमन गाड़ी की व्यवस्था होती तो शायद इतनी बर्बादी नही होती ! सोलह लाख की आबादी में महज तीन गाड़ियों के भरोषे जिला चल रहा है !

WhatsApp Image 2018-03-21 at 18.34.33 (2)

 

संसाधनों की कमी के कारण अक्सर समय पर अग्नि शमन गाड़ी नहीं पहुँच पाती है,इस कारण नुकसान ज्यादा हो जाता है ,गर्मी का मौसम चल रहा है पछुआ हवा के कारण भी अक्सर ऐसी घटना सामने आ रही है !

WhatsApp Image 2018-03-18 at 19.30.33

दो दिन पूर्व भी भारतीकित्ताडीह गाँव में ऐसे ही सात परिवार का आशियाना ख़ाक हो गया था !

About राघव मिश्रा

Check Also

गोड्डा की रहने वाली छात्रा पूजा भारती का शव पतरातू डैम से मिला,हत्या की आशंका ।

झारखंड पुलिस अभी तक ओरमांझी हत्याकांड की गुत्थी नहीं सुलझा पायी है, इधर मंगलवार की …

01-21-2021 05:34:10×