Home / गोड्डा प्रखण्ड / गोड्डा / उपाध्यक्ष पर कंघी का इतिहास पुराना

उपाध्यक्ष पर कंघी का इतिहास पुराना

गोड्डा नगर निकाय चुनाव में उपाध्यक्ष पद पर “कंघी” का इतिहास पुराना रहा है। इस पद पर महिला फैक्टर भी पुराना है। बस एक स्लोगन है रिश्ता वही सोच नई। जब पहली बार गोड्डा शहर को नगर पंचायत की मान्यता मिली। वर्ष 2008 में नगर पंणायत का चुनाव भी हुआ। जिसमें उपाध्यक्ष पद पर नुतन तिवारी ने काफी मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। उस समय की गरीबों की मसीहा, युवाओं की प्रेरणास्रोत नूतन तिवारी थी। नूतन तिवारी को चुनाव चिन्ह् कंघी था। पहले चुनाव में कंघीकाफी चर्चा में रहा था। वो क्या कहते है इतिहास खुद को दोहराता है। जब इस बार नगरनिकाय का चुनाव हुए तो उपाध्यक्ष पद पर महिला ने ही कब्जा किया। वह है वेणू चौबे। यह संयोग ही है कि उनका भी चुनाव चिन्ह् कंघी ही है। हालांकि वह झारखंड विकास मोर्चा की प्रत्याशी रही है। चुनाव परिणाम सामने आने के बाद इस बात की चर्चा बाजार में होने लगी है। वेणु चौबे शुरूआती दिनों से ही समाजसेवी के रूप में जानी जाती है। विगत दो चुनाव में वे वार्ड संख्या 14 से पार्षद भी रही थी। कहने को तो वे पार्षद थी। लेकिन पूरे शहर ही नही जिले में अपनी एक अलग पहचान बनाकर रखी है। वे झारखंड विकास मोर्चा की महिला इकाई का जिलाध्यक्ष के तौर पर भी जानी जाती है।

अभिषेक राज

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

सुशासन का दंभ भरने वाली बिहार पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ आशुतोष,पुलिस की पिटाई में मौत ।

राघव मिश्रा/लालू के जंगलराज को पटखनी लगाकर अपनी सुशासन की शंखनाद करने वाली बिहार सरकार …

10-30-2020 02:39:04×