Home / ताजा खबर / चौपाल कार्यक्रम में खुली जिला प्रशासन के दावों की पोल ।

चौपाल कार्यक्रम में खुली जिला प्रशासन के दावों की पोल ।

कृषि महाविद्यालय में आयोजित जनता चौपाल कार्यक्रम में जिला प्रशासन के दावों की पोल खुल गयी। एक तरफ जिला प्रशासन दावा करता है कि एक- एक प्रखंड को ओडीएफ करते हुए पूरे जिले को ओडीएफ घोषित कर दिया गया है,

प्रधानमंत्री आवास में निर्माण कार्य प्रगति पर है इसके अलावे न जाने क्या कुछ, लेकिन जब चौपाल में बातचीत के दौरान सीएम रघुवर दास ने महिलाओं से बातचीत करनी शुरू की तो, अधिकांश योजनाओं में महिलाओं ने धरातल से कोशों दूर बताया। जब सीएम ने पूछा कि आपलोगों को आवास योजना का लाभ मिला तो महिलाओं ने एकसुर में कहा अब तक उनलोगों को आवास योजना का लाभ नहीं मिला है।

महीनों से बीडीओ साहब के कार्यालय में आवेदन दिया गया है,लेकिन अब तक एक भी किश्त की राशि उनके खातों में नहीं पहुंची है। जब सीएम ने पूछा कि आप सभी को शौचालय का लाभ मिला या नहीं तो इस महिलाओं ने कहा कि गांव कई ऐसे परिवार है जिनके घर में अब तक शौचालय नहीं बन पाया है।

कई परिवारों ने शौचालय तो बनवा लिया है लेकिन राशि अब तक बैंक खातों में नहीं भेजी गयी है। बहरहाल वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन, गव्य विकास योजना से संबंधित, सखी मंडल आदि ने भी अधिकांश योजना पर सीएम के सवाल पर एअ सिरे से नकार दिया।

अब सवाल उठता है कि जिला प्रशासन ने जिला को ओडीएफ घोषित करने की हमेशा ढोल पीटता है लेकिन यह बातें चौपाल में सिफर रह गयी।

सवाल जिला प्रशासन द्वारा जिला स्तर, प्रखंड स्तर व पंचायत स्तर पर अधिकारियों द्वारा जनता दरबार लगा कर आवेदनों का निपटारा करने की बात करता है।

इतना ही नहीं जिला प्रशासन द्वारा विगत कुछ दिनों पहले प्रश्न आपका कार्यक्रम की भी शुरूआत की है। जिसमें पदाधिकारी आन कॉल उपस्थित रहते है और मामलों का निपटारा करने का दावा भी करते है। लेकिन इसके बावजूद सीएम का सीधा संवाद कार्यक्रम में सब ढाक के तीन पात साबित हुए।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

सुशासन का दंभ भरने वाली बिहार पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ आशुतोष,पुलिस की पिटाई में मौत ।

राघव मिश्रा/लालू के जंगलराज को पटखनी लगाकर अपनी सुशासन की शंखनाद करने वाली बिहार सरकार …

10-30-2020 05:15:09×