Home / ताजा खबर / बिजली से त्रस्त जनता का आक्रोश सड़क पर,सब्र का बांध टूटा ,सांसद ने आंदोलन को दिया समर्थन ।

बिजली से त्रस्त जनता का आक्रोश सड़क पर,सब्र का बांध टूटा ,सांसद ने आंदोलन को दिया समर्थन ।

राघव मिश्रा/बीते कई महीनों से गोड्डा की बिजली की आंख मिचोनी से त्रस्त होकर आज जनता का आक्रोश सड़क तक पहुंच गया,बिजली से त्रस्त जनता ने आंदोलन का रुख अख्तियार कर कारगिल चौंक को घण्टो जाम कर दिया ।एवं बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की आक्रोशित शहर की जनता ने न सिर्फ सड़क जाम कर विरोध किया बल्कि कुछ दुकानदारों ने स्वतः दुकान बंद कर विरोध किया ।

सांसद निशिकांत दुबे ने आंदोलन को दिया समर्थन ।

बताते चलें की कुछ दिन पूर्व राज्य बिजली बोर्ड के एमडी राहुल पुरवार के साथ मैराथन बैठक कर सांसद ने स्थितियों की जानकारी ली थी,जिसके बाद आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे ।

Screenshot_20190614-143048

साथ ही विभाग के कई अधिकारी द्वारा झूठे आंकड़े एवं दावे को सुनकर फटकार भी लगाई थी।आज जब जनता का सब्र का बांध टूटकर सड़कों तक पहुंच गया तो सांसद निशिकांत दुबे ने भी अपने फेसबुक पोस्ट के जरिये आंदोलन को अपना समर्थन दिया जिसमे उन्होंने लिखा की मैं इस आंदोलन का समर्थन करता हूँ ,एवं बिजली विभाग को सभी जानकारियां स्पष्ट रूप से जनता के सामने रखनी चाहिए ।

महिलाएं भी उतरी सड़क पर
शहर की बिजली स्थिति से तंग आकर आज कारगिल चौंक पर जैसे ही आंदोलन शुरू हुआ तो शहर की कुछ महिलाएं भी आंदोलन में उतर पड़ी और जमकर विभाग के खिलाफ नारेबाजी की ।

युवाओं ने कपड़े उतार कर सड़क पर किया विरोध
भीषण गर्मी में जब बिजली न हो तो समस्याओं का आंकलन नही किया जा सकता ,ऐसे में बिजली के बिना युवाओं को रात में पढ़ने में भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है ।

IMG_20190614_131650_8

इसको लेकर आज आंदोलन में युवाओं ने कपड़े उतार कर नग्न प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया ।

सांसद ने कार्रवाई करने की कही बात ।
सड़कों पर त्रस्त जनता का आक्रोश देख सांसद निशिकांत दुबे भी फेसबुक पर काफी एक्टिव थे उन्होंने अपने पोस्ट के जरिए एक्सक्यूटिव इंजीनियर गोपाल बर्णवाल के तबादले की बात कही है उन्होंने कहा की..

Screenshot_20190614-143115

“गोड्डा की बिजली व्यवस्था की दुर्गति के लिए सबसे ज़्यादा ज़िम्मेवार पदाधिकारी गोपाल वर्णवाल के तबादला के लिए सचिव वंदना दादेल व एमडी पुरवार जी ने कार्रवाई शुरु की।”

लागातर बिजली समस्याओं से फेसबुक पर चल रहा था आंदोलन।
गोड्डा की बिजली समस्याओं पर बीते कुछ दिनों से शहर के युवाओं समाजसेवियों,एवं एक्टिव सोशल मीडिया के लोगों द्वारा लागातर बिजली विभाग के खिलाफ व्यंग,कटाक्ष,सवालों से भरे पोस्ट जैसे कई तरह की बातें लगातार फेसबुक के जरिये सामने आ रही थी जिसके बाद आज सब्र का बांध टूट पड़ा और लोग व्हाट्सएप फेसबुक छोड़ सड़क पर उतर गए ।

घण्टो बन्दी के बाद ,लिखित आश्वासन पर टूटा जाम ।

सड़क पर उतरी जनता ने आंदोलन को इतना तेज कर दिया की आखिर में एक्सक्यूटिव इंजीनियर को लिखित देना पड़ा की ऐसी भीषण गर्मी को देखते हुए मेन्टेन्स कार्य को तत्काल स्थगित कर शहर को 16 से 18 घण्टे की बिजली आपूर्ति दी जाएगी ।लिखित आश्वासन देने के बाद जनता ने जाम तोड़ा ।

लॉ एंड ऑर्डर को नगर थाना प्रभारी ने संभाले रखा ।

बिजली विभाग के मनमाने रवैय्ये से त्रस्त जनता के आंदोलन नारेबाजी के साथ जारी था,जनता इतनी आक्रोशित थी की लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बिगड़ सकती थी ।

Screenshot_20190614-143957_1560503551933

 

 

लेकिन ऐसी स्थिति से निपटने के लिए नगर थाना प्रभारी कमलेश्वर प्रसाद पाण्डे पूरी दल बल के साथ मुस्तैद थे,उन्होंने IMG_20190614_133038_7_1560503722069मीडिया को बताया की जनता की मूलभूत सुविधा से त्रस्त है ,इसको लेकर विभाग लिखित आश्वासन दे रहा है ,लेकिन लॉ एंड ऑर्डर जैसी स्थिति पैदा होने नही दिया जाएगा इसके लिए अगर हमें बल का प्रयोग करना पड़ेगा तो हम करंगे ,क्योंकि कानून को हाथ मे लेने का अधिकार किसी को नही है।

IMG_20190614_122658_9
अंततः विभाग द्वारा लिखित आश्वासन में लिखी बातें सुनकर एवं पढ़कर लोगों ने जाम को हटाया ।

 

हालांकि इसी बीच एक्सक्यूटिव इंजीनियर की तबादले की बात सामने आ गई है ,जिन्होंने सादे पन्ने पर लिखित आश्वासन दिया है।अब देखने वाली बात यह होगी की विभागीय अधिकारी पर गिरी गाज एवं जनता के द्वारा यह आक्रोश गोड्डा शहर को कितने घण्टे बिजली मुहैया करा सकती है।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

सुशासन का दंभ भरने वाली बिहार पुलिस की बर्बरता का शिकार हुआ आशुतोष,पुलिस की पिटाई में मौत ।

राघव मिश्रा/लालू के जंगलराज को पटखनी लगाकर अपनी सुशासन की शंखनाद करने वाली बिहार सरकार …

10-30-2020 03:53:04×