Home / ताजा खबर / महगामा प्रकरण पर बोले डीजीपी- मामले की हो रही है जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

महगामा प्रकरण पर बोले डीजीपी- मामले की हो रही है जांच, दोषियों पर होगी कार्रवाई

रांची : गोड्डा जिले के महगामा प्रकरण पर डीजीपी ने कहा कि मामले की जांच हो रही है. जो भी दोषी होंगे उनके ऊपर कार्रवाई होगी. महगामा विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की विधायक दीपिका पांडे सिंह के व्यवहार से नाराज गोड्डा जिले के पांच थाना प्रभारियों और पुलिसकर्मियों ने एसपी से खुद का स्थानांतरण करने की मांग की थी. इस मामले में डीजीपी एमवी राव ने कहा कि इसे लेकर पुलिस की इंक्वायरी चल रही है. इस मामले में जो भी दोषी होंगे उनके ऊपर कार्रवाई की जायेगी.

किसी की मृत्यु होने पर और मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए जारी होगा पास: डीजीपी

इंटरस्टेट जाने के लिए लगातार आ रहे पास के आवेदन के सवाल पर डीजीपी एमवी राव ने कहा कि लॉकडाउन में इस पर विशेष नजर है कि पास का गलत प्रयोग नहीं हो. उन्होंने कहा कि ऊपरवाला न करे कि किसी के परिवार में किसी की मृत्यु हो, तो वैसी स्थिति में संबंधित व्यक्ति के परिवार के सदस्य को दाह संस्कार के लिए पास जारी किया जायेगा. इसके अलावा किसी के परिवार में मेडिकल ट्रीटमेंट चल रहा है तो उस स्थिति में पास जारी किया जायेगा. डीजीपी ने कहा कि इन दो परिस्थितियों के अलावा किसी भी कारण से किसी को इंटरस्टेट पास नहीं दिया जायेगा.

पुलिस एशोसिएशन ने उठाया था महगामा का मामला 

FB_IMG_1587734875815

इस संबंध में बयान जारी कर झारखण्ड पुलिस एशोसिएशन के द्वारा कहा गया था था कि महगामा विधायक के द्वारा अक्सर धमकाया जाता है ,पैरवी नही सुनने पर निलंबित करने की धमकी दी जाती है ।सभी कार्यों में हस्तक्षेप किया जाता है विधायक के द्वारा। इस संबंध में जारी बयान में यह कहा गया था की पुलिस के मनोबल को गिराने एवं पुलिस के कार्यों में हस्तक्षेप करने को लेकर पांच थाना से प्रभारी सहित कई पुलिस कर्मी ने स्थानंतरण की मांग जिला पुलिस अध्यक्ष के पास रखी गई थी ।

महगामा विधायक ने एक सिरे से मामले को बताई निराधार एवं बेबुनियाद ।

तमाम आरोपों के बीच महगामा विधायक दीपिका पांडे सिंह ने अपने ऊपर लगे आरोपों को एक सिरे से खारिज कर दिया है साथ ही मीडिया को जारी बयान में  यह लिखी है कि तमाम आरोप निराधार और बेबुनियाद है । वो लिखती है कि

जनता को पुलिस से डरना नहीं चाहिए … पुलिस को जनता के अनुकूल होना चाहिए:

महगामा विधायक का कहना है कि पुलिस मैनुअल में स्पष्ट उल्लेखित है कि लिखित शिकायत देने पर थाना में प्राथमिकी दर्ज की जानी है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर अभद्र टिप्पणी करने पर मैंने अपने गृह क्षेत्र महागामा थाना में लिखित आवेदन दिया तो थाना प्रभारी की ओर से घंटों टालमटोल किया गया। जनप्रतिनिधि के साथ सामान्य व्यवहार के मर्यादा का भी पालन नहीं किया गया। गलत कार्यों का विरोध करना कहां से असंवैधानिक है। कांग्रेस का कोई भी कार्यकर्ता पुलिस के कार्यों में हस्तक्षेप नहीं करता है। लॉकडाउन के अनुपालन और कोरोना आपदा में पीड़ित परिवारों को राहत दिलाने में कांग्रेस का एक-एक कार्यकर्ता सेवाभाव के साथ जनसेवा में लगा हुआ है। पुलिस मेंस एसोसिएशन के आरोप निराधार और बेबुनियाद हैं। –

दीपिका पांडेय सिंह, विधायक, महागामा।

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

सड़क दुर्घटना में एक की मौत,5 घायल,स्वास्थ्य विभाग की दिखी लापरवाही ।

सड़क दुर्घटना में एक की मौत,5 घायल,स्वास्थ्य विभाग की दिखी लापरवाही । महगामा/ महगामा गोड्डा …

10-25-2020 17:11:34×