Home / ताजा खबर / चर्चित ड्राइवर खलासी हत्याकांड में हुई सातवीं गिरफ्तारी ।

चर्चित ड्राइवर खलासी हत्याकांड में हुई सातवीं गिरफ्तारी ।

मार्च 2013 में चालक खलासी की हत्या कर लूट ली गई थी ट्रक ।
फरार अभियुक्त की गिरफ्तारी व ट्रक की बरामदगी के लिए कार्रवाई जारी

जिले के चर्चित ट्रक खलासी ड्राइवर हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने मामले में सातवेें अभियुक्त की गिरफ्तारी की है जिसमें नीरज कुमार को गिरफ्तार किया गया है. जबकि लूटी गई ट्रक अब तक बरामद नहीं हो पाई है. मालूम हो कि 11 मार्च 13 को जिले के महागामा थाना अंतर्गत महादेव स्थान-शिव कीता के बीच बुरी तरह जख्मी एक व्यक्ति मिला था जिसने बाद में दम तोड़ दिया। इसी दिन गोड्डा नगर थाना क्षेत्र के महागामा गोड्डा रोड में कझिया नदी पुल के नीचे एक शव बरामद हुआ था क्षेत्र में दो शव मिलने से सनसनी फैल गई. मामले को लेकर दोनों थाना की पुलिस ने 11 मार्च 2013 को चौकीदार के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की। इस वक्त तक यह पता चल नहीं पाया था कि यह दोनों ट्रक के चालक और खलासी हैं. इधर पुलिस ने कांड दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी. वहीं दूसरी ओर ट्रक के मालिक 12 मार्च 13 को जब गोड्डा आए तो उन्हें पता चला कि गोड्डा में दो अज्ञात शव अलग-अलग थाने में मिला है जब पहचान की तो पता चला कि उनके ट्रक नंबर डब्ल्यूबी 23 बी 3396 के चालक रंजीत कुमार पासवान और खलासी छोटू पासवान का है चालक और खलासी आपस में भाई थे। ट्रक भी गायब है।

20181014_160921

रंजीत का शव गोड्डा नगर थाना क्षेत्र के कझिया नदी पुल के नीचे मिला था जबकि छोटू महागामा के महादेवस्थान के पास मिला था इधर महागामा पुलिस की जांच जारी रही इसी दौरान भागलपुर जिला के कहलगांव थाना के घोघा में अप्रैल 2013 में ट्रक डकैती की एक घटना हुई थी जिसमें अभियुक्त पियूष सिंह व राजन यादव की गिरफ्तारी हुई। जहां इस बात का खुलासा हुआ कि इसके पूर्व लोगों ने गोड्डा जिला के महागामा थाना क्षेत्र में ट्रक डकैती की घटना को अंजाम दिया है जिसमें चालक व खलासी की हत्या हुई है इस कांड में दर्जनभर अभियुक्त शामिल हैं पुलिस के अनुसार घोघा पुलिस की निशानदेही पर जिला पुलिस ने जब जांच शुरू किया तो मामला सत्य पाया गया पीयूष राजन के अलावा 11 अभियुक्त के नाम ट्रक डकैती व चालक खलासी हत्याकांड में सामने आए।

IMG-20181207-WA0120

 

पुलिस ने अपने जांच में बाद में हत्या के मामले को डकैती के नियत से चालक व खलासी की हत्या के मामले में परिवर्तित कर दिया। मामले में अब तक नीरज चौरसिया जितेंद्र चौरसिया संतोष चौरसिया बैली मंडल विजय मंडल व नीरज कुमार की गिरफ्तारी हो चुकी है जबकि राजन यादव चंदन झा आनंद साह धनिक लाल मंडल फरार हैं वही पियूष सिंह बिहार के जेल में बंद है. घटना के संबंध में पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 10 मार्च 2013 को भागलपुर के ट्रक मालिक सूरज कुमार की वाहन नंबर डब्ल्यूबी 23 बी 3396 चिप्स लोड करने के लिए साहिबगंज के मिर्जाचौकी के लिए रवाना हुई यहां वाहन घोघा के पास लाइन होटल पहुंची इस बीच इसी मालिक की दूसरी वाहन डब्ल्यूबी 23 बी 3398 भी पीछे चल रही थी जहां दोनों वाहन के चालक के बीच बातचीत हुई मालिक से भी बातचीत हुई। जहां चालक रंजीत कुमार पासवान दूसरे वाहन के चालक से कहा भी कि जाम के कारण हुए लोग खाना नहीं पाए हैं, घोंघा के पास लाइन होटल में खाकर मिर्जाचौकी के लिए निकल जाएंगे पुलिस के अनुसार चालक लाइन होटल से खाना खाकर मिर्जाचौकी की ओर के निकले ही थे इसी बीच दोनों वाहन के चालक का संपर्क टूट गया वहीं वाहन मालिक ने भी कई बार डब्लू बी 3396 के चालक व खलासी से संपर्क का प्रयास किया लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।

 

जहां 12 मार्च -13 को गोड्डा पहुंचने पर पता चला कि उनके चालक और खलासी की हत्या हो गई है। पुलिस के अनुसार लूटे गए ट्रक को अभियुक्तों द्वारा दुमका मसानजोर रोड में ₹200000 में एक व्यक्ति के पास बेचने की बात कही गई है। इस बाबत महागामा एसडीपीओ राजा कुमार मित्रा ने बताया कि मामले को लेकर महागामा गोड्डा नगर थाना में मामला दर्ज किया गया था इस बीच अप्रैल 2013 में कहलगांव थाना क्षेत्र में घटना हुई गिरफ्तार अभियुक्त पियूष सिंह व राजन यादव निशानदेही पर जिला के मामला का खुलासा हुआ. इस मामले में अब तक 7 अभियुक्त की गिरफ्तारी हुई है चार के विरुद्ध कुर्की जब्ती का तमिला किया गया है जबकि एक आरोपी पियूष सिंह बिहार जेल में बंद है. पुलिस लूटे गए ट्रक की बरामदगी का प्रयास कर रही है. घटना को अंजाम देने वाले सभी अभियुक्त बिहार के हैं.

About मैं हूँ गोड्डा (कार्यालय)

Check Also

JusticeForAppu : SP ने थानेदार को किया सस्पेंड, थाने में पुलिस की पिटाई से अप्पू की हुई थी मौत ।

भागलपुर/इंजीनियर आशुतोष पाठक की पुलिस की पिटाई से मौत मामले में नवगछिया एसपी ने कार्रवाई …

10-31-2020 06:53:21×